Month: अगस्त 2019

मित्रता दिवस

साथ बैठकर जब कुछ गप-शप करतें हैं तो मित्रता जीने का सलीका सीखा ही जाती है।
कोई कितना भी बत्तमीज क्यों न हो मित्रता तमीज का पाठ पढ़ा ही जाती है।
एक दूसरे का साँस बनकर साथ निभाने का हुनर मित्रता बता ही जाती है।
सबकुछ छोड़कर बातें आज हो जाये मन की कुछ तुम कहो कुछ हम कहें।
मित्र हर राज से वाकिफ हो ये भी जरूरी है, बात करने की चाहत हृदय की आज के दिन क्यों अधूरी हो?
दूर होकर भी मन के बहुत करीब होते हैं, गम में चाहे जितने डूबे हों मित्र अपनी ऊल- जलूल बातों से खुशी विखेर ही जाते हैं।
आज के दिन ये आस हमारी पुरी हो, कृष्ण सुदामा सा मित्रता हमारी हो।
मित्रता दिवस के अवसर पर मेरी हार्दिक शुभकामनाएं।
रजनी अजीत सिंह 4.8.2019
#मित्रता_दिवस
#शुभकामनाएं