Month: जनवरी 2018

जिंदगी में उम्मीद। 

ना उम्मीद जिंदगी में उम्मीद की एक किरण फिर से जगी है।
तेरे कुछ शब्दों ने फिर से हंसने की वजह दी है।
यूं तो रंग हजारों थे जिंदगी में पर प्यार के एहसास रुपी रंग सजते है हर रिश्तों में ये प्यार जता आंचल मेरा खुशियों से भर दी है।
रजनी अजीत सिंह 31.1.18
#किरण
#वजह
#आंचल
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी के यादों में आओ ना। 


यादों में आओ ना
मुझको सताओ ना।
अपनी बातों से यूं
मुझको रुलाओ ना।
मुझको सताओ ना
बातें बनाओं ना।
झूठी बातों से मेरा दिल
बहलाओं ना।
आंखों में आओ ना
निंदिया बन जाओ ना।
प्यारी सी लोरी गाके
मुझको सुलाओ ना।
अपना सुनाओ ना
कुछ तो बताओ ना
हाल दिल का तुम
मुझसे छुपाओ ना।
रजनी अजीत सिंह 31.1.18
#यादों_में
#आंखो
#निंदिया
#yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में माँ की यादें जाती नहीं। 

माँ आज फिर तुम्हारी याद आ रही है मैं सबको समझती रही और सबको खुश देखने के लिए अपनी खुशियों भरी जिंदगी की भी बाजी लगा दिया पर इस स्वार्थी जहां में इसका कोई कीमत नहीं। माँ तुम कहती थी उस जगह पर जाओगी तो समझोगी बिल्कुल सही कहा था आपने आप आठ बच्चों के रहते हुए भी अकेलापन महसूस किया आज मेरे कदमों सब खुशी है फिर भी तेरी “रात” को अकेला पन काटने को दौड़ता है जबकि मैं भी बच्चों की मां और भरा पूरा परिवार है पर तेरी रजनी तेरे बिना खुश नहीं हैं सुन रही हो तुम। तुम रहती तो समझ जाती पर अब कोई नहीं समझता तेरी बेटी की खुशी को सब मतलबी है।
सिर्फ आपकी रजनी 30.1.18
#माँ,
#बेटी_हूँ_मैं
#महसूस

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में परेशानी। 


जिंदगी में बहुत परेशानी है पर परेशानियों का सामना करने का हिम्मत हो तो परेशानी अपने आप कम हो जाती है और एक अच्छी जिंदगी की शुरुवात भी हो जाती है। इसलिए परेशानी से परेशान नहीं होना चाहिए बल्कि डटकर सामना करना चाहिए।
रजनी अजीत सिंह 29.1.18
#जिंदगी2
#परेशानी
#शुरुवात
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में पांव जमाना मुश्किल है। 

जिंदगी की अपोजिट धारा में अब पैर जमाना मुश्किल है।
सब कुछ हँस हँस के सहा पर अब सहना मुश्किल है।
मेरी खुशी पर जाने किसकी नजर लगी कि सबको खुश रखने की कोशिश करने वाली आज खुद ही खुश नहीं।
जिंदगी जिसने जिंदादिली से जीना सीखाया वो भी तो नाखुश होगा।
जिंदगी जीना तो फिर भी आसां है पर हर हाल में खुश रहना बहुत मुश्किल, बहुत मुश्किल, बहुत ही मुश्किल है।
रजनी अजीत सिंह 28,1.18
#जिंदगी_तेरे_साथ
#खुशी
#मुश्किल____
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी के आँखों में मोती। 


आँखों में मोती,
मन में उठ रहे हजार सवाल।
घबराहट और बेचैनी, आंखों का पथराना, कहीं फिर उस रास्ते पर जाने का संकेत तो नहीं जहाँ से वापसी असम्भव है। शून्य में तिरोहित हो गई तो “रात” की जिंदगी अंधकार में ही खो जाएगा। जो सब के दुःख के साथ मेरे भी दुःख का एहसास होगा। या मुझमें दुख – सुख का एहसास करने की क्षमता ही न रह गया तो यह अर्थहीन जिंदगी मेरे किस काम की।
रजनी अजीत सिंह 28.1.18
#मोती
#सवाल_१
#घबराहट
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में बाढ़। 


आज न जाने क्यों बिना बात के बात आंखों में बाढ़ सी आ गई है।
जो रोकना चाहती हूं फिर भी नहीं रुकता क्यों कि बाढ़ जो है।
ये बाढ़ जाने किस किस को तबाह करेगी या खुद को घटाने की कोशिश में खुद कीचड़ में फसां जल बन जायेगा जिसका कोई अस्तित्व ही नहीं है बस सुख कर नष्ट हो जाना है।
😢रजनी अजीत सिंह 😢28.1.18
#बाढ़
#तबाह
#अस्तित्व
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में बराबर का अधिकार। 

एक जिंदगी तुम्हारी गुजरती है और एक जिंदगी मेरी गुजरती है।
तुम्हारी जिंदगी पर किसका किसका अधिकार है मुझे नहीं पता है।
पर मेरे जिंदगी में सबका बराबर का अधिकार है ये मुझे पता है।
रजनी अजीत 27.1.18
#जिंदगी_गेम
#गुजरती
#yqbaba
#yqdidi #अधिकार

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में कैसे गुजर जाता वक्त। 


जिंदगी में सुबहऔर शाम काम में चला जाता है।
आधी रात अपनों के साथ में और उसके बाद यादों में खो कब नींद आ जाता है इसका एहसास ही नहीं हो पाता है।
बस जिंदगी हर रोज ऐसे ही गुजर जाता है।
रजनी अजीत सिंह 27.1.1.
#जिंदगीखेल
#नींद
#एहसास़
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote