नये साल की नई उम्मीद 

अरे! नये साल में नयी उम्मीदें लेकर आया नया साल।
अरे! सबको बधाई नये साल की, मम्मी – पापा ,भाई-बहना, दीदी-जीजा, चाचा-चाची बेटी-बेटा सबको ही।
अरे! जो साथ रहे हैं उनको भी, जो दूर रहे हैं उनको भी, जो देश में है उनको भी, जो विदेश बसे हैं उनको भी।
अरे! जो दोस्त बने हैं उनको भी, जो बिछड़ गए हैं उनको भी।अरे! सबको बधाई-सबको बधाई मेरी तरफ से सबको बधाई।

रजनी सिंह 1.1. 2017

3 विचार “नये साल की नई उम्मीद &rdquo पर;

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है।