जिंदगी में मेरे एहसास तुझसे जुदा हो नहीं सकती।

मुझे लाख तू भूला दे मगर मेरे एहसास तुझसे जुदा हो नहीं सकती।
अब इससे ज्यादा मैं तेरी हो नहीं सकती।
जिंदगी में ख्वाब संजोया तुझसे ताउम्र रिश्ता निभाने की।
ये रिश्ता प्यार से रौशन हो न हो अब इससे ज्यादा दिल का दीया जला नहीं सकती।
रब मेरी अवाज को तेरे दिल तक पहुँचा दे फिर देख तेरी खुशी के लिए मैं क्या नहीं कर सकती।
आगे चलकर पीछे हटना गंवारा नहीं मुझको जो प्यार में सब कुछ हारा हो उसे अब जीतने की चाहत हो नहीं सकती।
मेरे प्यार के एहसास ने मुझे हर मुश्किल दौर से निकाला है ये मैं समझती हूं इसे शब्दों से ब्यां कर नहीं सकती।
इस खाक हुए ख्वाहिश को रब पहुंचा दे उस तलक क्या प्यार के एहसास में इतना भी हक जता नहीं सकती।
हर हाल में खुश रहे तू ये मैंने दुंआ मांगी अब और इससे ज्यादा कुछ और फर्ज अदा कर नहीं सकती।
रजनी अजीत सिंह 3.5.18
#एहसास
#जिंदगी
#ख्वाहिश
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote