जिंदगी में चुप रहकर भी बहुत कुछ कह गई।

हमेशा बोल कर ही बोला जाए ये ज़रूरी तो नहीं।

Collab कीजिये YQDidi के संग।

#चुपरहकरभी
#yqdidi #yqbaba
NaPoWriMo
#YourQuoteAndMine
Collaborating with YourQuote Didi
दर्द से भरी बंद आँखें चुप रहकर
भी बहुत कुछ कह गई।
तमाम लोगों से जैसे कह गई
तमाशा बनाते बहुत देखा है इन आँखों ने
हैवानियत के हथे जाने कितनी बेटी बलि चढ़ी।
और उसमें एक मैं भी शामिल हो गई।
उसकी दर्द भरी मासूम सी आँखें जैसे कह रही हो,
है कोई ऐसा धर्म, मजहब ईश्वर कहो या अल्लाह
जो इंसान की हैवानियत जब जगती है
तो उस हैवानियत को खत्म कर सके
जवाब होगा शायद नहीं।
फिर चाहे जिसका राज हो क्या फर्क पड़ता है
उसकी मासूम सी दर्द भरी आँखें
मानव को मानव ही बने रहने का पाठ पढ़ा गई
और चुप रहकर भी बहुत कुछ
दानवों को भी जैसे कुछ सीखा गई।
रजनी अजीत सिंह 19.4.18

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote