जिंदगी में रुठने मनाने का एहसास। 

हम रुठ भी जायें कभी किसी से तो मुझे मनाने कोई नहीं आयेगा। बस इसी डर के एहसास से कभी हम रुठ न पाये किसी से भी. बल्कि रुठे को मनाते ही रह गए।
रजनी अजीत सिंह 22.1.18
#रुठ
#डर
#एहसास…..✍❤⭐❤✌
#yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote