महीना: दिसम्बर 2017

जिंदगी में अपनापन। 


माना तो सारे जहाँ को अपना।
पर तुम्हारा अपनापन कुछ अलग ही एहसास दिलाता है।
प्यार और खुशी तो सभी को बांटा।
पर तेरे प्यार का एहसास कुछ अलग ही खुशी दिलाता है।
मेरे खुशी का तुम्हें एहसास और फिक्र न हो ये एहसास भी कुछ अलग ही दुःख दे जाता है।
रजनी अजीत सिंह 28.12.17
#अपनापन
#एहसास‌
#प्यार्
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में कदमों की निंशा। 

जमाने में जिसे अपना आदर्श मान उसके पीछे पीछे चल रहे थे।
वो आगे निकलने की होड़ में पीछे मुड़कर देखा ही नहीं की उसके पीछे भी एक खूबसूरत जहाँ है और वे इतना आगे निकल गए की हम पीछे ही रह गये।
हमने तो उसकी कदमों के निंशा को ही अपने मंजिल का पता बना लिया।
और वो नासमझ होशियार बन अपने कदमों के निंशा को भी अपने खुशी के लिए मिटा आगे बढ़ते गये।
और हम नसमझ बनकर भी उनके मिटे कदमों के निंशा को ही अपने मंजिल का हमसफर बना लिए।
रजनी अजीत सिंह 16.1217
#आदर्श
#मंजिल
#हमसफर
#yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में हमसफर। 

सोचती हूँ जहाँ में सभी को अपना बना लूं।
जख्म कितने भी गहरे हों तेरी यादों को मरहम बना लूं।
तेरे कदमों के निंशा को ही अपने मंजिल का पता बना लूं।
उम्र बीत गयी दूजे की खुशी देकर जीने में।
अपने खुशियों को पाने के लिए तुझे सबसे अच्छा दोस्त बना लूं।
सुना है दो हस्ती मिलती है तो दोस्ती बनती है।
तो क्यों न दो हस्ती की एक वजह बना दो मंजिल को अपना एक मंजिल बना लूं।
यादों के सफर में जिंदगी को खुशियों के साथ जीना है तो क्यों न सुनहरी यादो को ही हमसफर बना लूं।
रजनी अजीत सिंह 16.12.17

#मरहम,
#मंजिल
#दोस्ती_
#yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में आज का क्रिसमस। 


कुछ घंटों में मैरी क्रिसमस मनेगा मैं माँ हूँ इसलिए चाहती हूँ मेरे सभी बच्चों की झोली खुशियों से भर जाए ताकि बच्चों के ओठों पर किलकारी रूपी हंसी ही विराजमान हो।
हैप्पी क्रिसमस
😊रजनी अजीत सिंह 😊
#क्रिसमस #yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी की तन्हाई। 


जिंदगी में तन्हाइयों से दूर रहना चाहिए। जिंदगी में खुशी के रास्ते तलाश करना चाहिए।
जिंदगी में जो बातें अपनों के खुशी तक न जाए उस बातों को भूल जाना चाहिए।
आज मन परेशान है आँखें हैरान है।
कुछ तो है जो रेत की तरह मेरे हाथ से फिसला जा रहा है मन कहता है ऐसा नहीं होना चाहिए।
क्या मैं जितना सोचती हूँ मेरे बारे में भी कोई सोचता है इतना।
मैं जानती हूँ मुझे इतना भी नहीं सोचना चाहिए।
पर अफसोस मैं अपनी खुशी के लिए सोचना और फिक्र करना नहीं छोड़ सकती।
आज मैं अपनी मन के शान्ति के लिए माँ से प्रार्थना करती हूँ मेरे हर मन से माने रिश्ते यदि दुखी हो तो खुशी से जीना सीख ले।
माँ को मेरी ये प्रार्थना यदि मैंने सबको खुशी से जीना सिखाया है तो अवश्य कबूल करनी चाहिए।
क्यों कि मेरे रिश्तों को वही बनाती है और वही निभाना भी सिखाती है।
क्या मेरे तड़प को मेरे माने गए रिश्तों को समझा पाओगी।
सबकी खुशी में ही अपनी खुशी ढूंढा है मेरे खुशियों के लिए मेरे मन से माने रिश्ते को खुश रहना ही चाहिए।
नहीं तो मेरे एहसास कर परख करने की क्षमता ही मेरे मृत्यु का कारण न बन जाए।
आँखों से आँसू गिराना बन्द कर दिया। बातें करना भी बन्द कर दिया अब सोचती हूँ लिखना भी छोड़ दूं जो मेरे जिंदगी जीने का सहारा है।
जब सहारा ही छिन जाए तो दुनिया भी छूट ही जाना चाहिए।
रजनी अजीत सिंह 24.1217
#जिंदगी😀 #तलाश_ #तड़प #yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में खुशी और गम का एहसास।  

आँखों की लाली बता देती है आज किसी के लिए बहुत रोया है।
गालो का गुलाबी होना भी बता देती है कि आज किसी के लिए बहुत हँसा है।
छुपाना भी चाहा तो छुपा न सकी क्यों ये प्यार का एहसास ही है जो अपने समझ ही जाते हैं।
रजनी अजीत सिंह 22.12.17
#yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी जिंदा लाश। 


जिंदगी में जब न खुशी का एहसास हो न गम का उस जिंदगी को क्या कहेंगे?
उस जिंदगी को ही जिंदा लाश बनना कहते हैं।
रजनी अजीत सिंह
#जिंदगी😀
#एहसास
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में अपनापन न होने का एहसास। 


जिस जिंदगी में दोस्ती का साथ न हो,
जिस जिंदगी में अपनो के अपनापन का एहसास और प्यार न हो उस जिंदगी को क्या कहते हैं?
उस जिंदगी को बोरिंग और निरस जिंदगी जीना कहते हैं। मुझे तो लगता है इस जिंदगी से मौत बेहतर है।
पर मौत का साथ भी कैसे हो जब अपने के खोने या अपने के पाने का एहसास ही न हो।
किसी ने ठीक ही गाया है –
जिसे मौत ने न पूछा उसे जिंदगी ने मारा।
रजनी अजीत सिंह 22.12.17
#जिंदगी😀
#दोस्ती_
#अपनापन
#yqbaba
#yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी में सुख दुःख का बराबर एहसास। 


कभी साथी का साथ तो कभी लम्बी रातों का अकेलेपन का एहसास।
जिंदगी में कुछ भी हो जाय खुश रहने का एहसास।
न रोने देती है न हंसने देती है और कभी न मिलने वाली खुशी का दिला देतीै है एहसास।
बचपन की पहेली याद आता है वो कौन सा कली है जो कभी नहीं खिलता है।
जिसका उत्तर होता था छिपकली हास्य से भरा हुआ एहसास।
मेरे सुख दुःख की जिन्दगी तो एक गूलर के फूल का लिए है एहसास।
जो दिखाई भी नहीं देती है न कभी खत्म होने का ही देती है एहसास।
उसका रीजन है बराबर बराबर सुख और दुःख का एहसास।
दुःख हो तो तब न सुख आये, और सुख हो तब न दुःख आये।
पर मेरे जिंदगी में सुख दुःख का बराबर बराबर मिलता है एहसास।
दिन मुस्कुराते हुए खुशी का दिलाती एहसास तो “रात” घूप अंधेरे में आँखों में आँसू के मोती लिए दुःख का देती है एहसास।
रजनी अजीत सिंह 22.12.17
#yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

जिंदगी एक और खुशी अनेक। 

मेरे लिए दोनों ही प्यार का रंग सजा जिंदगी में बहार लाए।
एक गम बांट ले जाए तो दूसरा एक हंसी के साथ खुशी दे जाए।
और इस तरह दोनों का प्यार ही माप तोलकर बराबर का हक जताए।
कोई दूर रहकर ही खुशी दिलाए, और कोई करीब रहकर गम बांट ले जाए।
जिंदगी के चौराहे पर रास्ते चारों तरफ हैं पर हर रास्ता अपने मंजिल तक पहुंचाए।
रास्ते चार हैं पर एक लक्ष्य मेरे मंजिल तक ले जाए और मेरे सपनों को अपना बना जाए।
रूप चाहे जो हो हर प्यारी छवि मन में समा जाए।
चाहे कृष्ण की राधा, जाहे राम की सीता.
चाहे शंकर की गौरा चाहे विष्णु की लक्ष्मी सबने अपने साथी का मान सम्मान हैं बढाए।
रजनी अजीत सिंह
#जिंदगी😀
#yqbaba #yqdidi

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote