जिंदगी में हिन्दी पर गर्व। 

इंग्लिश तेरी दुल्हन होगी,
हमें नाज है हिन्दी पर,
हिंदुस्तान के हम वासिंदे,
नाज हिन्द और हिंदी पर,
छंद रसीले अलंकार हैं,
उपमा का भी क्या कहना,
बोल के देखो हिंदी प्यारे,
सारे देश का है गहना,
झरनों के कलकल पानी,
बारिश के बूंदों में हिंदी,
जीव-जंतु के बोल सुनो,
लगता है बोल रहे हिंदी,
गावो के खलिहान,शहर,
संसद को शान है हिंदी पर,
हिंदुस्तान के हम वासिंदे,
नाज हिन्द और हिंदी पर।
जय हिंद —जय हिंदी।

कवि मधुसूदन जी

रजनी सिंह

Follow my writings on https://www.yourquote.in/rajnisingh #yourquote

3 विचार “जिंदगी में हिन्दी पर गर्व। &rdquo पर;

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है।