जिंदगी में मेरे जिंदगी के बिना कुछ नहीं। 

तुम्ही हो निगाहों में, तुम्हीं ख्यालों में। 

तुम्ही रूह में, जुस्तजू तुम्ही पनाहो में। 

तेरे बिना जिंदगी कुछ भी नहीं।   

         रजनी अजीत  सिंह 

10 विचार “जिंदगी में मेरे जिंदगी के बिना कुछ नहीं। &rdquo पर;

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है।