~जिंदगी में खुशी 4.9.17

खुशियों के मौसम है चलो खुशी ले लिया जाए, 

खुशियों का विखरा उजाला हर तरफ है, 

चलो जिंदगी में उजाला ले लिया जाए। 

चलो जिंदगी में कुछ देर अपनों के साथ बैठे, 

खुशी पाने के वास्ते थोड़ा प्यार भरा डोज ले लिया जाए। 

बड़ी मुद्दतों बाद मिले हैं खुशी के आँगन, 

 दुनिया को खुशी देने के वास्ते बहुत से काम बाकी हैं, 

चलो खुशी बांटने का जिम्मा ले लिया जाए। 

सुना है इन दिनों खुशी बाजार में मिलती है, 
चलो बाजार से सबकुछ देके खुशी ले लिया जाए। 

दुनिया के इस बाजार में आये हैं तो कुछ लेना जरूरी है, 

मिले जो दौलत से खुशी तो चलो मुहब्बत के सौदागर से,

खुशी का सौदा ले लिया जाए। 
                   रजनी सिंह 


17 विचार “~जिंदगी में खुशी 4.9.17&rdquo पर;

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है।