जिंदगी में एहसास 5.8.17

जिंदगी में मेरा जज्बा है तुम्हारे लिए।

भीगे हुए एहसास है तुम्हारे लिए।

खबर न थी कि शर्मीलापन ही,

दीवार बन जाएगा मेरे प्यार के लिए।

रजनी सिंह

6 विचार “    जिंदगी में एहसास 5.8.17&rdquo पर;

    1. धन्यवाद अंसारी जी। आज तो कई सारे ईद के चाँद मेरे ब्लॉग पर दिख गए। यानी पुराने फालोवरस में आप अभय जी, और अजय जी का तो कुछ पता ही नहीं बेचारे किस हाल में हैं। अभी तक तो केवल मधुसूदन जी ही एक्टिव हैं पर आज जैसे इद की चाँद को देखने पर मिलती है वही खुशी मुझे मिली। वैसे एक्टिव रहने के लिए वेस्ट आन लक आप सभी को।

      Liked by 1 व्यक्ति

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है।