~अपने बेगाने 

जिसे बनाया मैंने अपना वे आज हो गए बेगाने। 

अपनो ने तोड़ा सपना आज प्यार के बहाने। 

मेरे सपनों का टूटना तो किस्मत की बात थी। 

पर मां की आस टूटी विश्वास के बहाने। 

17 विचार “       ~अपने बेगाने &rdquo पर;

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है।